संत रविदास मंदिर मामला:तुगलकाबाद हिंसा में चंद्रशेखर समेत 91 गिरफ्तार, पैरामिलिट्री फोर्स तैनात

Whatsapp

नई दिल्ली: दक्षिण दिल्ली के तुगलकाबाद में संत रविदास का एक मंदिर गिराए जाने के खिलाफ दलितों का विरोध प्रदर्शन बुधवार को हिंसक हो गया और पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े तथा हल्का लाठीचार्ज करना पड़ा। वहीं बुधवार रात हुई हिंसा में अबतक 91 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है, इसमें भीम आर्मी चीफ चन्द्रशेखर आजाद उर्फ रावण भी शामिल हैं। गुरुवार सुबह पूरे इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया गया। दिल्ली पुलिस के जवानों के साथ पैरामिलिट्री फोर्स को भी शहर में तैनात है।

तुगलकाबाद हिंसा के दौरान 15 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हो गए और दर्जनों गाड़ियों में तोड़-फोड़ की गई। पुलिस ने गिरफ्तार सभी 91 आरोपियों पर दंगा फैलाना, सरकारी और निजी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने का मामला दर्ज किया है, सभी आरोपियों को आज साकेत कोर्ट में पेश किया गया जाएगा। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) ने 10 अगस्त को मंदिर गिरा दिया था।

प्रदर्शनकारियों ने उस स्थल तक मार्च किया और इस दौरान एक समूह हिंसक हो गया। भीम आर्मी के प्रदर्शन को आम आदमी पार्टी के नेताओं ने भी समर्थन दिया। इससे पहले दिन में हजारों दलितों ने मध्य दिल्ली के झंडेवालान में अम्बेडकर भवन से रामलीला मैदान तक मार्च किया। प्रदर्शनकारी बसों और ट्रेनों से देश के विभिन्न हिस्सों से आए थे।