B’day Spl: वेटर से कैसे फिल्म इंडस्ट्री के चमकते स्टार बने रणदीप हुड्डा, जानिए दिलचस्प किस्सा

Whatsapp

बाॅलीवुड में अपने शानदार अभिनय और स्टाइल से कराेड़ाें लाेगाेें का दिल जीतने वाले रणदीप हुड्डा की आज दुनिया भर में अलग पहचान है। बता दें कि आज रणदीप हुड्डा अपना 43वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रहे हैं। तो आइए आपको बताते हैं इनके जन्मदिन पर इनसे जुड़ी कुछ खास बातें।

20 अगस्त 1976 को रोहतक में जन्में रणदीप हुड्डा ने 17 साल पहले फिल्मी करियर की शुरुआत की थी। फिल्म ‘मॉनसून वेडिंग’ से अपने करियर की शुरुआत करने वाले रणदीप हुड्डा हमेशा से ही अपनी एक्टिंग की वजह से चर्चा में रहे हैं। जिस्म 2, किक, वन्स अपॉन अ टाइम और सरबजीत जैसी फिल्मों में रणदीप अपनी एक्टिंग का हुनर दिखा चुका है। बता दें कि रणदीप अपने स्कूल दिनों में बहुत शरारती हुआ करते थे, जिसकी वजह से स्कूल में उन्हें रणदीप डॉन कह कर बुलाया जाता था।

इन्होंने अपने स्कूल पढ़ाई सोनीपत से की और पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए वो ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न चले गए। जहां से उनके संघर्ष की कहानी शुरू हुई। दरअसल, पॉकेट मनी के लिए रणदीप को एक होटल में वेटर का काम करना पड़ा। ऑस्ट्रेलिया में रणदीप को पैसों के लिए बर्तन साफ करने पड़े और टैक्सी भी चलानी पड़ी। साल 2000 में रणदीप भारत लौटे और एक एयरलाइन कंपनी के मार्केटिंग डिपार्टमेंट में काम करने लगे, साथ ही उन्होंने मॉडलिंग और थियेटर में काम करना शुरू कर दिया था। एक प्ले के रिहर्सल के दौरान मीरा नायर ने उन्हें देखा और अपनी आने वाली फिल्म के लिए ऑडीशन देने के लिए कहा।

साल 2001 में उनकी फिल्म मानसून वेडिंग बड़े पर्दे पर रिलीज हुई। फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर अच्छी कमाई की। लेकिन इसके बाद भी उन्हें फिल्मों में आसानी से काम नहीं मिला। उसके बाद रणदीप अलग- अलग तरह के किरदारों में नजर आए हैं। फिल्म ‘हाईवे’ में एक किडनैपर की भूमिका से लेकर सरबजीत के मुख्य किरदार तक वो कई रूप में दिख चुके हैं। राम गोपाल वर्मा की फिल्म ‘डी’ में भी रणदीप ने काम किया था लेकिन फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सफल नहीं रही। रणदीप अपने करियर का टर्निंग प्वाइंट फिल्म ‘वंस अपॉन ए टाइम इन मुंबई’ (2010) को मानते हैं। उनकी मुख्य फिल्मों में ‘साहिब बीवी और गैंगस्टर’, ‘जन्नत 2’, हेट स्टोरी, ‘रंगरसिया’,’सुल्तान’ बागी-2 जैसी फिल्में रही हैं।