दिल्ली: यमुना खतरे के निशान के पार- 10 हजार लोगों को निकाला सुरक्षित, हेल्पलाइन नंबर जारी

Whatsapp

नई दिल्लीः हरियाणा के हथिनीकुण्ड बैराज से एक ही दिन में आठ लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने के बाद दिल्ली में बाढ़ का खतरा बना हुआ है। यमुना खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। वहीं दिल्ली सरकार ने हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं। दिल्ली सरकार ने नदी के आसपास रह रहे लोगों को सरकारी टेंटों में आने का आग्रह किया है। वहीं मथुरा-वृन्दावन में यमुना नदी में बाढ़ आने का खतरा पैदा हो गया, जिसके चलते जिले के 175 गांव खतरे की जद में हैं

यमुना किनारे की सभी बाढ़ चैकियों को भी सक्रिय कर दिया गया है। यहां तैनात कर्मचारी यमुना पर नजर रखे हुए हैं। राहत कार्य में लगे लोगों ने करीब 10 हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया है। हथिनीकुंड बैराज से लगातार पानी छोड़ने के चलते यमुना का जलस्तर बढ़ रहा है। मंगलवार सुबह जलस्तर 205.90 मीटर पर पहुंच गया जो खतरे के निशान से 0.61 मीटर ज्यादा है। इससे पहले सोमवार रात नौ बजे तक जलस्तर 205.54 मीटर रेकॉर्ड किया गया था, जबकि खतरे का निशान 205.33 मीटर है। आज शाम 4 से 6 बजे के बीच यमुना का जल स्तर 206.20 मीटर तक पहुंच सकता है।

हेल्पलाइन नंबर जारी 
दिल्ली सरकार ने स्थिति से निपटने के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी कर दिए हैं। सरकार ने कहा कि आने वाले दो दिन काफी गंभीर हैं। किसी तरह की मदद के लिए 011-22421656 और 011- 21210849 पर कॉल की जा सकती है।