सतना में मासूम की हत्या पर बोले शिवराज, ‘कमलनाथ जी आपने मेरा MP बर्बाद कर दिया’

Whatsapp

भोपाल: मध्यप्रदेश के सतना जिले में एक बार फिर मासूम का अपहरण कर हत्या करने का मामला सामना आया है। जिले में इस प्रकार की यह तीसरी घटना है कुछ ही दिनों पहले भोपाल में भी ऐसा मामला सामने आ चुका है, प्रदेश में लगातार हो रही इस प्रकार की घटना को लेकर अब पुलिस पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। लगातार हो रही ऐसी वारदातों को लेकर पूर्व सीएम शिवराज सिंह ने सीएम कमलनाथ पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है ‘सरकार अब तो आंखें खोलो, कितने माता-पिता के बच्चे ऐसे छिनते रहेंगे, कमलनाथ जी मेरा मध्यप्रदेश ऐसा तो नहीं था! आपने प्रदेश को बर्बाद कर दिया।

Shivraj Singh Chouhan

@ChouhanShivraj

सतना में मासूम की अपहरण बाद हत्या की घटना हृदय विदारक है। आत्मा हिल गई। पहले भी सतना में दो मासूम भाइयों की अपहरण के बाद हत्या हुई थी, लेकिन सरकार उसके बाद भी नहीं चेती। प्रदेश में कानून-व्यवस्था कहीं नहीं है। सरकार अब तो आंखें खोलो। कितने माता-पिता के बच्चे ऐसे छिनते रहेंगे?

Shivraj Singh Chouhan

@ChouhanShivraj

क्या आमजन, क्या पत्रकार, क्या पुलिस! सब डरे हुए हैं। अपराधी खुलकर खेल रहे हैं। इंदौर में पत्रकार को चाकू के दम पर लूट लिया गया। चारों तरफ हाहाकार मचा है। अपराधियों में कानून का जरा भी भय नहीं रह गया है। कमलनाथ जी मेरा मध्यप्रदेश ऐसा तो नहीं था! आपने प्रदेश को बर्बाद कर दिया।

467 people are talking about this

कमलनाथ जी, मेरा प्रदेश एसा नहीं था…
शिवराज ने ट्वीट करते हुए कहा कि ‘सतना में मासूम की अपहरण बाद हत्या की घटना हृदय विदारक है। आत्मा हिल गई। पहले भी सतना में दो मासूम भाइयों की अपहरण के बाद हत्या हुई थी, लेकिन सरकार उसके बाद भी नहीं चेती। प्रदेश में कानून-व्यवस्था कहीं नहीं है। सरकार अब तो आंखें खोलो। कितने माता-पिता के बच्चे ऐसे छिनते रहेंगे’ शिवराज ने आगे लिखा है कि ‘क्या आमजन, क्या पत्रकार, क्या पुलिस! सब डरे हुए हैं। अपराधी खुलकर खेल रहे हैं। इंदौर में पत्रकार को चाकू के दम पर लूट लिया गया। चारों तरफ हाहाकार मचा है। अपराधियों में कानून का जरा भी भय नहीं रह गया है। कमलनाथ जी मेरा मध्यप्रदेश ऐसा तो नहीं था! आपने प्रदेश को बर्बाद कर दिया’।

ये है पूरा मामला…
दरअसल शुक्रवार के दिन जिले के चोरहटा गांव में 13 वर्षीय मासूम विकास का स्कूल से लौटते समय अपहरण कर लिया था। मामले का खुलासा उस वक्त हुआ जब अपहरणकर्ताओं ने बच्चे के पिता को फोन कर 10 लाख रुपए की फिरौती मांगी। पिता ने इसकी जानकारी पुलिस को दी तो पुलिस ने आरोपियों की तलाश शुरू की और एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया, उसकी निशानदेही पर बंशीपुर गांव के एक कुएं से बच्चे का शव बरामद किया गया। एक आरोपी अब भी फरार है, पुलिस इसकी तलाश कर रही है।