UNSC में पाक-चीन की जमकर फजीहत, भारतीय राजदूत ने Pak पत्रकारों की बोलती की बंद

Whatsapp

अनुच्छेद 370 के मुद्दे पर पाकिस्तान ने भारत को संयुक्त राष्ट्र में घेरने की कोशिश की लेकिन उसका यह दांव उल्टा पड़ गया। पाकिस्तान की गुजारिश पर चीन द्वारा बुलाई गई UNSC की बैठक में दोनों ही देशों को फजीहत का सामना करना पड़ा। UNSC ने न सिर्फ कश्मीर में हालात सामान्य करने की भारत की कोशिशों की तारीफ की, बल्कि चीन तमाम कोशिशों के बावजूद बैठक पर कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं कर पाया। वहीं, भारतीय कूटनीति का दमदार चेहरा उस समय देखने को मिला जब संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरूद्दीन ने अपनी हाजिरजवाबी और तथ्यों से पाकिस्तानी पत्रकारों की बोलती बंद कर दी।

पाकिस्तान को यूएन में करारा जवाब देते हुए संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी राजदूत सईद अकबरुद्दीन ने कहा कि जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाना भारत का आंतरिक मामला है। UNSC में कश्मीर पर चर्चा के बाद सैयद अकबरूद्दीन की एक प्रेस कॉन्फ्रेंस चल रही थी। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में पाकिस्तान के कई पत्रकारों ने अकबरुद्दीन से बार-बार कश्मीर और मानवाधिकार से जुड़े सवाल दागे। अकबरुद्दीन ने सबसे पहले तीन पाकिस्तानी पत्रकारों के सवालों का जवाब दिय

ANI

@ANI

: Syed Akbaruddin, India’s Ambassador to UN says,”so, let me start by coming across to you and shaking hands. All three of you,” to a Pakistani journalist when asked,”when will you begin a dialogue with Pakistan?”

Embedded video

6,245 people are talking about this
जैसे ही पाकिस्तान के आखिरी पत्रकार ने उनसे सवाल पूछा कि नई दिल्ली, इस्लामाबाद से कब बात करेगा, तो अकबरुद्दीन अपने पोडियम से चलकर पाकिस्तानी पत्रकार के पास गए और कहा, ‘चलिए, मुझे इसकी शुरुआत सबसे पहले आपसे करने दीजिए। हाथ मिलाने दीजिए।’ उन्होंने एक-एक कर तीनों पाकिस्तानी पत्रकारों से हाथ मिलाया। इसके बाद पोडियम पर जाकर उन्होंने कहा, ‘हमने दोस्ती का हाथ बढ़ाकर दिखा दिया कि हम (भारत) शिमला समझौते को लेकर प्रतिबद्ध हैं। अब पाकिस्तान की तरफ से जवाब का इंतजार करते हैं।’