यूरोप के सबसे ऊंचे पर्वत पर MP की बेटी ने लहराया परचम, ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ का संदेश

Whatsapp

भोपाल: माउंट एवरेस्ट फतह करने वाली मध्यप्रदेश की पहली एवरेस्टर मेघा परमार ने एक बार फिर MP औऱ पूरे देश का नाम रोशन किया है। मेघा परमार ने यूरोप के सबसे ऊंचे पर्वत पर बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ का संदेश दिया है, उन्होंने रूस के पर्वत माउंट एल्ब्रुस पर 8 अगस्त को स्थानीय समय अनुसार दिन में 10.14 बजे अपनी चढ़ाई पूरी की। आपको बता दें कि माउंट एल्ब्रुस की कुल उंचाई 18510.44 फीट है।

यूरोप में ऐसा करने वाली MP की पहली बेटी

माउंड एल्ब्रुस को फतह करने वाली मेघा परमार मध्यप्रदेश की पहली बेटी हैं। मेघा को MP महिला एवं बाल विकास विभाग ने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान का ब्रांड एंबेसडर बनाया है। मेघा परमार सीहोर के भोजनगर के किसान दामोदर परमार की बेटी हैं। मेघा ने इस अभियान की शुरुआत 5 अगस्त से की थी। फाइनल समिट के लिए वे 8 अगस्त को रात 1 बजे निकलीं और फिर सुबह 10.14 पर चोटी पहुंचकर समिट किया।

बता दें कि माउंट एल्ब्रुस पर्वत एक निष्क्रिय ज्वालामुखी है जो के पश्चिमी काकेशस पर्वत श्रंखला में स्थित है। इसकी ऊंचाई 5 हजार 642 मीटर है यह काकेशस पर्वत श्रंखला का हिस्सा है। जो एशिया और यूरोप मे फैला है।