Breaking News
Home / राज्य / छत्तीसगढ़ / ईदगाह में नहीं होगी ईद की नमाज, सादगी से मनाया जायेगा ईद-ए-अजहा का त्यौहार

ईदगाह में नहीं होगी ईद की नमाज, सादगी से मनाया जायेगा ईद-ए-अजहा का त्यौहार

रायपुर: राजधानी में ईद-ए-अजहा त्योहार पर पहली बार ईदगाह मैदान पर ईद की नमाज अता नहीं होगी। सार्वजनिक स्थान पर त्योहार कार्यक्रम भी नहीं होंगे। यही नहीं, मस्जिदों में भी सामूहिक नमाज अता नहीं होगी, बल्कि मस्जिद कमेटी के अधिकतम पांच लोग ही परिसर में नमाज अता कर सकेंगे बुधवार को राजधानी रायपुर में पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ मुस्लिम समाज के प्रमुख लोगों की बैठक हुई है। बैठक में तय किया गया कि लॉकडाउन के नियमों का पालन करते हुए ईद-ए-अजहा का त्यौहार सादगी से मनाया जायेगा। इस दौरान किसी प्रकार के सार्वजनिक कार्यक्रम नहीं होंगे। बैठक में यह भी तय किया गया, कि ईदगाहों में नमाज नहीं पढ़ी जाएगी। वहीं फजर के तुरंत बाद ईद-ए-अजहा अदा कर ली जाएगी। बेवजह घूमने वालों पर कार्यवाही की जाएगी। ईद मिलन के कार्यक्रम भी नहीं होंगे। इस दौरान हुई चर्चा में तय किया गया, कि कोरोना (कोविड-19) के संक्रमण से बचाव के लिए जारी लॉकडाउन के नियम कायदों का पूरा पालन करना होगा।

ईद-ए-अजहा के इस त्यौहार में मुस्लिम समाज के द्वारा कुर्बानी दी जाती है। लेकिन प्रदेश में कई जिलों में 6 अगस्त तक लॉकडाउन है और लोगों के घरों से बाहर निकलने पर प्रतिबंध है। इसलिए कुर्बानी घरों पर ही की जाए और कुर्बानी का हिस्सा अपने घरों के आसपास ही तकसीम किया जाए। पुलिस और प्रशासन के साथ हुई इस बैठक में अधिकारियों ने सभी को ईद की अग्रिम बधाई दी और शांति एवं सद्भाव के साथ ईद का त्यौहार मनाने की अपील की। 6 अगस्त तक रायपुर और बीरगांव नगर निगम एरिया टोटल कंटेनमेंट जोन घोषित है। एक अगस्त को ईद-ए-अजहा त्योहार है। इसे देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन समेत अन्य नियमों का पालन करते हुए सामूहिक नमाज अता करने और सामूहिक कार्यक्रम करने पर रोक लगाने का फैसला लिया गया।

About Akhilesh Dubey

Check Also

छत्तीसगढ़: दंतेवाड़ा में मुठभेड़ के बाद पुलिस ने गिरफ्तार किए दो नाबालिग सहित तीन नक्सली

दंतेवाड़ा। पुलिस ने रविवार को कहा कि छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में सुरक्षा बलों और माओवादियों …