उच्चतम न्यायालय का आदेश योगी सरकार के मुंह पर तमाचा: कांग्रेस

Whatsapp

लखनऊ: उन्नाव बलात्कार कांड से जुड़े मामले दिल्ली स्थानांतरित करने के उच्चतम न्यायालय के आदेश का स्वागत करते हुये कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने गुरूवार को कहा कि अब यह साफ हो गया है कि उत्तर प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार आरोपी विधायक को संरक्षण दे रही है।

प्रमोद तिवारी ने यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि उन्नाव मामले में उच्चतम न्यायालय द्वारा स्वत: संज्ञान लेकर मुकदमों को दिल्ली स्थानान्तरित करने का आदेश योगी सरकार के मुंह पर करारा तमाचा है। इस मामले में राज्य सरकार की लीपापोती और विधायक को लगातार सत्ता संरक्षण देने के दुष्चक्र का पर्दाफाश हो चुका है। न्यायालय को भी प्रदेश की योगी सरकार के न्याय एवं जांच प्रक्रिया पर भरोसा नहीं रह गया है।

उन्होने कहा कि कोटर् के इस फैसले ने भाजपा के चाल, चरित्र और चेहरे केा उजागर कर दिया है और प्रदेश में फैले जंगलराज और इसमें अपराधियों को मिल रहे संरक्षण को भी बेनकाब कर दिया है। जनता के साथ मिलकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा उठायी गयी न्याय की आवाज के दबाव में भाजपा को बलात्कार के आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को भाजपा को निलम्बित करने के लिए मजबूर होना पड़ा लेकिन इन्साफ पसन्द जनता सिर्फ इसी से संतुष्ट होने वाली नहीं है। कांग्रेस जब तक पीड़िता को न्याय न मिल जाये तब तक इस लड़ाई को जारी रखेगी।

कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजय कुमार लल्लू ने मांग की कि कुलदीप सिंह सेंगर को तिहाड़ जेल स्थानान्तरित किया जाय और उसे विधानसभा से बाहर किया जाय। पीड़ित परिवार को तत्काल एक करोड़ की आर्थिक मदद दी जाये। पीड़िता के चाचा को तत्काल दो महीने के लिए पैरोल पर रिहा किया जाये ताकि वह हिन्दू रीति रिवाज के अनुसार अपने परिवार में मारे गये सदस्यों का क्रिया-कर्म सम्पन्न करवा सकें।