2000 रु/दस ग्राम के उछाल के साथ सोने ने बनाया ऑल टाइम हाई का रिकॉर्ड, वैश्विक बाजारों में तेजी का दिखा असर

नई दिल्लीः वैश्विक बाजारों में आई तेजी का असर मंगलवार को भारत के वायदा बाजार में भी दिखा और शुरुआती कारोबार में सोने में 2000 रुपए प्रति दस ग्राम तक का उछाल देखा गया। इस उछाल के साथ सोने ने वायदा बाजार में 45,724 रुपए प्रति दस ग्राम का नया रिकॉर्ड बनाया। इससे पहले सोने का ऑल टाइम हाई स्तर 45,361 रुपए प्रति दस ग्राम था। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (एमसीएक्स) में सुबह 9.47 बजे सोने का जून का वायदा भाव 3.15 फीसदी या 1378 रुपए प्रति दस ग्राम की तेजी के साथ 45,100 रुपए प्रति दस ग्राम पर चल रहा है। सोमवार को अवकाश के कारण भारत के कमोडिटी डेरेटिव बाजार बंद थे।

चांदी की कीमत में 5 फीसदी तक का उछाल
वैश्विक बाजारों की तेजी का असर चांदी के वायदा भाव में भी दिखा है। एमसीएक्स में शुरुआती कारोबार में चांदी 5 फीसदी के उछाल के साथ 43,345 रुपए प्रति किलो पर पहुंच गई। सुबह 9.57 बजे चांदी का मई का वायदा भाव 5.23 फीसदी यानी 2157 रुपए की तेजी के साथ 43380 रुपए प्रति किलो पर कारोबार कर रहा है। एमसीएक्स में चांदी का ऑल टाइम हाई प्राइस 50,123 रुपए प्रति किलो है। हालांकि, वैश्विक बाजारों में चार सप्ताह तक लगातार तेजी के बाद मंगलवार को सोना का स्पॉट प्राइस 0.2 फीसदी की गिरावट के साथ 1675.67 डॉलर प्रति औंस पर आ गया है। पिछले सत्र में सोना की कीमत में करीब 3 फीसदी तक का उछाल देखा गया था।

कोरोना से निपटने के लिए किए गए उपायों से आई तेजी
एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसीडेंट अनुज गुप्ता का कहना है कि कोरोनावायरस के प्रकोप से मिल रही आर्थिक चुनौतियों का सामना करने के लिए अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व समेत कई देशों के केंद्रीय बैंकों ने ब्याज दर में कटौती की है, जिससे महंगी धातुओं को सपोर्ट मिल रहा है। अनुज गुप्ता का कहना है कि निवेश के सुरक्षित साधन के रूप में सोना के प्रति निवेशकों का रुझान बढ़ने से इसके भाव में लगातार तेजी का रुख बना हुआ है। भारत में देशव्यापी लॉकडाउन के कारण हाजिर बाजार बीते दो सप्ताह से बंद है।

सोने के आयात में भारी गिरावट
मार्च महीने के दौरान भारत में सोने के आयात में 73 फीसदी तक की गिरावट आई है। बीते साढ़े साल में ऐसा पहली बार हुआ है कि सोने के आयात में इतनी बड़ी गिरावट आई है। लॉकडाउन के चलते गोल्ड की रिटेल मांग में बड़ी गिरावट देखने को मिल रही है।

दुनियाभर में भारत गोल्ड का दूसरा सबसे बड़ा आयातक है। मार्च महीने के दौरान भारत में केवल 25 टन सोना ही आयात किया गया, जो पिछले साल की सामान अवधि में 93.25 टन था।