कोरोना संकट में CM शिवराज ने खुद के वेतन में कटौती का किया ऐलान, कांग्रेस ने कसा तंज

Whatsapp

भोपाल: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के कारण देशभर में लॉकडाउन किया गया है। कयास लगाए जा रहे हैं कि देश को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ सकता है। इससे निपटने के लिए मध्य प्रदेश में राज्यपाल लालजी टंडन ने अपनी सैलरी में 30 प्रतिशत की कटौती का ऐलान किया था। अब इसी कड़ी में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी अपनी सैलरी में 30 प्रतिशत की कटौती करने घोषणा की है। उन्होंने ट्वीट के जरिए अगले एक साल तक कम सैलरी लेने की बात कही है। इसके साथ ही अपनी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को भी संकट की इस घड़ी में कंधे से कंधा मिलाकर चलने का आह्वान किया है।

Shivraj Singh Chouhan

@ChouhanShivraj

मैंने निर्णय लिया है कि मुख्यमंत्री के रूप में मिलने वाले वेतन में कटौती कर एक वर्ष तक 30% कम वेतन लूंगा।

साथ ही विधायक निधि की राशि भी कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने के लिए दूंगा।

सभी से अपील है कि संकट से जूझने के लिए मुख्यमंत्री सहायता कोष में अपना सहयोग करें! https://twitter.com/ChouhanShivraj/status/1247189311637741568 

Shivraj Singh Chouhan

@ChouhanShivraj

देश में #COVID19 संक्रमण के कारण असाधारण स्थिति बनी हुई है।

इस समय अपने गरीब भाई-बहनों के लिए भोजन और अन्य आवश्यक वस्तुओं की व्यवस्था करने हेतु संपूर्ण शक्ति और संसाधन लगाने की आवश्यकता है। #IndiaFightsCorona

729 people are talking about this

सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि देश में कोविड-19 के संक्रमण के कारण असाधारण स्थिति बनी हुई है। इस समय अपने गरीब भाई-बहनों के लिए भोजन और अन्य आवश्यक वस्तुओं की व्यवस्था करने हेतु संपूर्ण शक्ति और संसाधन लगाने की आवश्यकता है। मुख्यमंत्री शिवराज ने दूसरे जनप्रतिनिधियों से भी यह अपील की है कि वह इस पहल में आगे आएं और मदद के लिए इसी तरीके के फैसले से माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के 30 फ़ीसदी सैलरी कम लेने के फैसले के बाद अब बीजेपी के विधायक और सांसद के अलावा तमाम जनप्रतिनिधि भी अपनी सैलरी का कुछ हिस्सा कम करके लेंगे और इसे प्रधानमंत्री राहत कोष या मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा कराएंगे।

Shivraj Singh Chouhan

@ChouhanShivraj

देश में संक्रमण के कारण असाधारण स्थिति बनी हुई है।

इस समय अपने गरीब भाई-बहनों के लिए भोजन और अन्य आवश्यक वस्तुओं की व्यवस्था करने हेतु संपूर्ण शक्ति और संसाधन लगाने की आवश्यकता है।

858 people are talking about this

आपको बता दे कि इससे पहले प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन ने भी अपनी सैलरी का 30 फ़ीसदी हिस्सा कम लेने का फैसला किया है. लालजी टंडन ने इस संबंध में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को एक खत लिखते हुए कहा है कि वह कोरोना संकट तक अपनी सैलरी का 30 फ़ीसदी हिस्सा प्रधानमंत्री राहत कोष में जमा करेंगे यह राशि करीब 100000 तक होगी।
कांग्रेस ने कसा तंज

MP Congress

@INCMP

शिवराज जी,
वेतन नहीं, इनकम का 30% दीजिये..!
—और हाँ, जब सरकार की अधिकतम उम्र ही 3 महीने हैं तो एक वर्ष के वेतन का वादा क्यों..?

याद रखियेगा, कांग्रेस में किसान हत्यारों और घोटालेबाज़ों के लिये कोई जगह नहीं है। https://twitter.com/chouhanshivraj/status/1247189409092403200 

Shivraj Singh Chouhan

@ChouhanShivraj

मैंने निर्णय लिया है कि मुख्यमंत्री के रूप में मिलने वाले वेतन में कटौती कर एक वर्ष तक 30% कम वेतन लूंगा।

साथ ही विधायक निधि की राशि भी कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने के लिए दूंगा।

सभी से अपील है कि #COVID19 संकट से जूझने के लिए मुख्यमंत्री सहायता कोष में अपना सहयोग करें! https://twitter.com/ChouhanShivraj/status/1247189311637741568 

226 people are talking about this

सीएम शिवराज के 30 फीसदी सैलरी कम लेने के घोषणा के बाद कांग्रेस ने शिवराज सिंह पर तंज कसते हुए ट्वीट किया है। कांग्रेस ने लिखा कि, शिवराज जी, वेतन नहीं, इनकम का 30% दीजिए। जब सरकार की उम्र ही 3 महीने है तो एक वर्ष के वेतन का वादा क्यों..?