भाजपा के 40 साल: कार्यकर्ताओं से भोजन त्याग कर जरूरतमंदों का पेट भरने की अपील

Whatsapp

भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने पार्टी कार्यकर्ताओं से सोमवार को अपील की कि वे पार्टी के स्थापना दिवस के अवसर पर लॉकडाउन के दौरान कष्ट झेल रहे लोगों के प्रति सहानूभुति व्यक्त करने के लिए एक समय के भोजन का त्याग करें। नड्डा ने भाजपा के स्थापना दिवस के अवसर पर पार्टी कार्यकर्ताओं को दिशा-निर्देश जारी किए और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इन्हें ट्वीट कर कार्यकर्ताओं से इन निर्देशों का पालन करने की अपील की।

नड्डा से पार्टी कार्यकर्ताओं से अपील की है कि वे जरूरतमंदों को भोजन के पैकेट मुहैया कराएं, घर में बने मास्क वितरित करें और आपात सेवाओं में कार्यरत कर्मियों के प्रति आभार प्रकट करने के लिए लोगों से हस्ताक्षर कराएं। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं को सामाजिक दूरी का पालन करना चाहिए। भाजपा अध्यक्ष ने पार्टी कार्यकर्ताओं से अपील की कि सभी भाजपा कार्यकर्ता पार्टी के स्थापना दिवस पर एक समय के भोजन का त्याग कर बंद के दौरान कष्ट झेल रहे लोगों के साथ अपनी सहानुभूति व्यक्त करें और पार्टी के देशव्यापी महाभियान ‘फीड द नीडी’ (जरूरतमंद को भोजन कराएं) के तहत खाद्य सामग्री के पैकेट का वितरण जरूरतमंद लोगों के बीच किया जाए।

PunjabKesari

नड्डा ने कहा कि अगले एक सप्ताह ऐसी सुदृढ़ व्यवस्था बनाई जाए जिसके अंतर्गत हमारे बूथ के हर व्यक्ति को हम घर पर निर्मित दो फेस मास्क दे सकें। फेस मास्क बनाने एवं वितरण के वीडियो #WearFaceCoverStaySafe के माध्यम से हमें सोशल मीडिया पर अधिक से अधिक प्रचारित करने चाहिए ताकि लोग इसके उपयोग के प्रति जागरुक बनें। भाजपा कार्यकर्ता कम से कम 40 लोगों को पीएम केयर्स फंड में 100 रुपये का दान देने के लिए प्रोत्साहित करें। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से कोरोना वायरस महामारी के कारण पैदा हुई संकट की इस घड़ी में सेवा, स्वच्छता, सहयोग और समर्पण को अपना संस्कार बनाने का आह्वान किया।

PunjabKesari

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि 40वें स्थापना दिवस के अवसर पर हमें हर बूथ के 40 घरों से संपर्क करके पांच धन्यवाद पत्रों पर उनके हस्ताक्षर लेने हैं। ये पत्र पुलिस, डॉक्टर/नर्स, सफाई कर्मचारी, बैंक/डाक घर कर्मचारी और सेवा में लगे सरकारी कर्मचारियों को धन्यवाद ज्ञापित करने के लिए होंगें। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से आग्रह किया कि वे बंद के समय में अपने घरों में भारतीय जनता पार्टी और पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के बारे में उपलब्ध साहित्य पढ़ना शुरू करें। पूर्ववर्ती जन संघ के नेताओं ने छह अप्रैल 1980 को भाजपा की स्थापना की थी। आपातकाल के बाद 1977 में हुए लोकसभा चुनाव में इंदिरा गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस के खिलाफ मिलकर लड़ने के लिए जनता पार्टी में जनसंघ का विलय हो गया था।