PAK में बैन के बावजूद नमाज के लिए 400 लोगों को इकट्ठा करने वाले मौलवी पर केस दर्ज

Whatsapp

पेशावरः पाकिस्तान में रोक के बावजूद सैंकड़ों लोगों को नमाज के लिए इकट्ठा करने पर एक मौलवी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। पाकिस्तान में भी भारत की तरह कोरोना वायरस के कारण धार्मिक सभाओं पर प्रतिबंध लगाया हुआ है। बता दें कि पाकिस्तान में घातक वायरस ने 2,800 से अधिक लोगों को संक्रमित किया है और 41 लोगों की जान गई है। डॉन अखबार के मुताबिक, लाल मस्जिद के पूर्व मौलाना अब्दुल अजीज और छह अन्य के खिलाफ सरकारी आदेश की अवहेलना करने और मस्जिद में 400 लोगों को इकट्ठा करने के लिए शुक्रवार की नमाज के लिए मामला दर्ज किया गया था।

रविवार को रिपोर्ट में कहा गया है कि पुलिस अधिकारियों ने वहां लोगों से इकट्ठा होकर नमाज पढ़ने से मना किया था, लेकिन सरकारी आदेश पर ध्यान नहीं दिया गया। यह भी कहा गया कि अजीज पर भय फैलाने और लोगों को राज्य के खिलाफ भड़काने का आरोप लगाया गया है। मामला शुक्रवार को दर्ज किया गया था। हालांकि, अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। पाकिस्तान में भी कोरोना वायरस के मामले हर दिन के साथ बढ़ रहे हैं। कुल 2,800 से ज्यादा मामलों में अकेले पंजाब प्रांत में संक्रमित लोगों की संख्या एक हजार से ज्यादा हो गई है। इसमें से पंजाब प्रांत में 1131 मामले, सिंध में 839 मामले, खैबर पख्तूनख्वा में 383 मामले, बलूचिस्तान में 175 मामले, गिलगित बाल्टिस्तान में 193 मामले, इस्लामाबाद में 75 और पीओके में 12 मामलों की पुष्टि की है।

कोरोना वायरस के कारण 41 मरीजों ने अपनी जान गंवाई है। उधर, शुक्रवार को विश्व बैंक ने कोरोना महामारी से लड़ने के लिए पाकिस्तान को 200 मिलियन डॉलर (1500 करोड़ रुपये से ज्यादा) की आर्थिक सहायता को मंजूरी प्रदान कर दी। अधिकारियों ने कहा कि पाकिस्तान सरकार ने कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए कई उपाय किए हैं, लेकिन ज्यादा सफलता नहीं मिली है। प्रधानमंत्री इमरान खान की अध्यक्षता वाली राष्ट्रीय समन्वय समिति कोरोना वायरस को लेकर हर दिन बैठक कर रही है।