Lockdown Update: मदद मिलने में देरी पर सीएम हेमंत सोरेन ने मांगी माफी, बोले- विश्वास रखें, मदद जरूर पहुंचेगी

Whatsapp

रांची। कोरोना वायरस से संभावित खतरे को देखते हुए लॉकडाउन होने से कई लोग राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में फंस गए हैैं। कइयों को भूखे रहने की नौबत आ गई है। सीएम हेमंत सोरेन लगातार इस पर नजर बनाए हुए हैैं और ट्वीट के माध्यम से मिली जानकारी पर त्वरित कार्रवाई करने का निर्देश दे रहे हैं। इसके अलावा उन्होंने दूसरे राज्यों में फंसे लोगों को मदद पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं।

उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है कि आपकी सरकार राज्य से बाहर फंसे हर झारखंडी तक मदद पहुंचा रही है। अगर मदद मिलने में थोड़ा विलंब हो रहा हो तो मैं क्षमाप्रार्थी हूं। पूरा विश्वास रखें, मदद जरूर पहुंचेगी। इसके अलावा सीएम ने सभी से घर में रहने की अपील की है। कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने का एक ही तरीका है सतर्क रहे, सुरक्षित रहें और घर पर रहें।

कोरोना से जुड़े लक्षणों को छुपाये नहीं, इससे घबरायें नहीं, बल्कि जांच करायें। कोरोना से लड़ाई हम एक दूसरे की मदद कर ही जीत सकते हैं। कोरोना हारेगा, झारखंड जीतेगा। हेमंत सोरेन ने रामगढ़ के गोला में भूख की खबर पर त्वरित कार्रवाई करने का निर्देश रामगढ़ डीसी को दिया है। इस दौरान कुछ लोगों ने सरकार द्वारा भेजी गई सामग्री मिलने पर सीएम को धन्यवाद दिया है।

इधर, मुंबई में रह रहे झारखंड के कई लोग वहां फंसे झारखंड के मजदूरों को मदद कर रहे हैं। इनमें वहां की कई संस्थाएं भी सामने आई हैं जिनका संचालन झारखंड के लोगों द्वारा किया जाता है। रोटरी क्लब के विनोद अग्रवाल के नेतृत्व में झारखंड के 376 परिवारों को गोरे गांव एवं मलाड क्षेत्रों में सहायता पहुंचाई गई। झारखंड के लोगों द्वारा संचालित संस्थाएं झारखंडवासी परिवर्तन संघ तथा ऑल हिन्द वेलफेयर एजुकेशन भी मजदूरों को सहायता पहुंचा रही है।