खेल महामारी के प्रभाव से दुनिया को उबारने में बहुत बड़ी भूमिका निभा सकता है: इयोन मोर्गन

लंदन। पूरी दुनिया इस वक्त कोरोना के प्रभाव से ग्रसित है और इसकी वजह से सामान्य जिंदगी के अलावा सारे खेल इवेंट्स पर भी बुरा प्रभाव पड़ा है। कोरोना वायरस से संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी होती ही जा रही है और इससे मरने वालों की तादाद में भी इजाफा हो रहा है। इन सब बातों के बीच इंग्लैंड की सिमिति ओवरों की टीम के कप्तान इयोन मोर्गन का ये मानना है कि खेल दुनिया को कोविड 19 के प्रभाव से उबारे में बड़ी भूमिका निभा सकते हैं।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद यानी आइसीसी के मुताबिक इयोन मोर्गन ने कहा कि खेल दुनिया को आगे बढ़ाने और लोगों का चीजों के प्रति नजरिया बदलने में अहम भूमिका निभा सकते हैं। उन्होंने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा कि अगर आप अलग-थलग रहते हो तो इसकी वजह से दिमाग निष्क्रिय हो जाता है। खेल से दिमाग को सक्रिय बनाया जा सकता है और अगर ऐसा होता है तो मुझे लगता है कि ये एक अहम कदम होगा।उन्होंने कहा कि जब तक स्थिति नियंत्रण में नहीं आती इंग्लैंड के टॉप क्रिकेटर इंतजार करने के लिये तैयार हैं और इस संकट से पार पाने के लिये जो भी संभव हो वह कर रहे हैं।

इयोन मोर्गन ने कहा कि इसमें कोई शक नहीं है कि कोरोना वायरल को लेकर स्थिति साफ नहीं है और असामान्य स्थिति बनी हुई है। सच तो ये है कि जब तक इस महामारी पर नियंत्रण नहीं हो जाता है हम खेलने के बारे में नहीं सोच सकते हैं। क्रिकेटर और अन्य खिलाड़ी इस घातक वायरस से लड़ाई में अपना योगदान दे रहे हैं।”

आपको बता दें कि इयोन मोर्गन की टीम के साथी जोस बटलर पैसा जुटाने के लिए वनडे विश्व कप 2019 के फाइनल के दौरान पहनी अपनी टीशर्ट नीलाम कर रहे हैं। अभी तक इसके लिए 65,000 पाउंड की बोली लगाई जा चुकी है। वहीं ईसीबी ने भी इसके लिए बड़ी राशि की घोषणा की है।