निजामुद्दीन स्थित मरकज में मौजूद 24 लोग निकले कोरोना पॉजिटिव, केजरीवाल ने बुलाई बैठक

दिल्ली में कोरोनावायरस के मरीजों की बढ़ती संख्या के बीच जमात के मरकज का मामला सामने आने के बाद देश में हड़कंप मच गया है। दिल्ली स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि मरकज़ भवन निज़ामुद्दीन में मौजूद 24 लोगों का कोरोना वायरस टेस्ट पॉजिटिव आया है। अंदाजा लगाया जा रहा है कि वहां 1500, 1600 के आस-पास लोग हैं, जिनमें से 1033 लोगों को निकाला जा चुका है।

सत्येंद्र जैन ने बताया कि मरकज़ से निकाले गए 334 लोगों को अस्पताल और 700 के करीब लोगों को क्वारंटीन सेंटर भेजा गया है। इतनी बड़ी संख्या में संभावित मरीजों के सामने आने की स्थिति में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर आपात बैठक जारी है। इसमें स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के साथ अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद हैं।

दिल्ली के निजामुद्दीन में स्थित जमात के मरकज मामला तब खुला, जब दिल्ली में 64 साल के एक शख्स की मौत हुई। इसके बाद पूरा अमला हरकत में आया और पूरे सेंटर को खाली कराया गया। इस मरकज में 15 देशों के लोग मौजूद थे। अब सरकार हर उस शख्त की तलाश कर रही है, जो मरकज में शामिल हुए या फिर उनके संपर्क में आए।

बता दें कि दिल्ली के निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात के मरकज में करीब 14,00 लोग जमा हुए थे, इनमें काफी सारे विदेशी भी थे। विदेशी मेहमानों में अधिकतर मलेशिया और इंडोनेशिया के बताए जा रहे हैं। हैरानी बात ये है कि देश की राजधानी में कोरोना कहर के बीच इतनी बड़ी तादाद में इतने लोग कैसे जमा हो गए। फिलहाल, पुलिस और मेडिकल टीम ऐसे लोगों को पकड़कर इनके इलाज में जुटी है। मरकज को फिलहाल खाली करा दिया गया है और केस दर्ज भी कर लिया गया है।