चुनावी दंगल में फंस गए ‘बजरंगबली’, हनुमान चालीसा पर केजरीवाल और मनोज तिवारी में छिड़ी जंग

Whatsapp

दिल्ली की 70 विधानसभी सीटों के लिए शनिवार सुबह से मतदान जारी है। जहां एक ओर भाजपा और आम आदमी पार्टी अपनी अपनी जी  का दावा कर रही है तो वहीं दूसरी तरफ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी और सीएम अरविंद केजरीवाल के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है। दिलचस्प बात है कि यह जंग चुनावों को लेकर नहीं बल्कि हनुमान चालीसा को लेकर चल रही है।

PunjabKesari

‘आप’ सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए अपना वोट डालने के बाद आरोप लगाया कि उन्होंने जब से एक टीवी चैनल पर ‘हनुमान चालीसा’ पढ़ी है, तब से भाजपा उनका मजाक उड़ा रही है। उन्होंने ट्वीट कर पूछा कि भारतीय जनता पाटी (भाजपा) किस प्रकार की राजनीति करना चाहती है। मैं कल हनुमान मंदिर गया था। आज भाजपा नेता कह रहे हैं कि मेरे जाने से मंदिर अशुद्ध हो गया। यह कैसी राजनीति है? भगवान तो सभी के हैं। भगवान सभी को आशीर्वाद दें, भाजपा वालों को भी। सबका भला हो।

PunjabKesari

दरअसल केजरीवाल ने कनॉट प्लेस के निकट प्रसिद्ध हनुमान मंदिर में अपनी पत्नी के साथ शुक्रवार को पूजा की थी। जिसके बाद तिवारी ने कहा था ‘वो पूजा करने गए थे या हनुमान जी को अशुद्ध करने गए थे? एक हाथ से जूता उतारके, उसी हाथ से माला लेकर..क्या कर दिया? जब नकली भक्त आते हैं ना तो यही होता है। मैंने पंडित जी को बताया, बहुत बार हनुमान जी को धोए हैं।

मनोज तिवारी के इस बयान पर आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने पलटवार करते हुए कहा था कि बीजेपी दिल्ली के सीएम को इतनी अछूत भावना से देखती है। इससे ज्यादा गिरा हुआ और घटिया बयान नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि अभी भी भाजपा उस युग में हैं जहां दलितों को मंदिर में प्रवेश नहीं दिया जाता था, श्रीराम भी अब बीजेपी को नहीं बचा सकते। वहीं उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चार फरवरी को दिल्ली में चुनावी रैली में कहा था कि अब केजरीवाल ने हनुमान चालीसा पढ़नी शुरू कर दी है। आने वाले दिनों में आप औवेसी को भी यह पढ़ते हुए देखेंगे। निश्चित रूप से ऐसा होगा।