Breaking News
Home / मध्यप्रदेश / जबलपुर / CAA के समर्थकों और विरोधियों में पत्थरबाजी, आंसू गैस के गोले छोड़ पाया हालातों पर काबू

CAA के समर्थकों और विरोधियों में पत्थरबाजी, आंसू गैस के गोले छोड़ पाया हालातों पर काबू

जबलपुर: जबलपुर के आधारताल इलाके में सीएए के विरोध में निकाली गई तिंरगा यात्रा के दौरान हंगामा हो गया। यात्रा का विरोध कर रहे लोगों व यात्रा निकाल रहे पक्ष में झड़प हो गई। देखते ही देखते मामला इतना बढ़ गया कि दोनों पक्षों के बीच पथराव हुआ और वाहनों में तोड़फोड़ हुई। हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस को बल का प्रयोग करना पड़ा और आंसू गैस के गोले छोड़े गए।

दरअसल, सीएए के समर्थन में निकाली जा रही तिंरगा यात्रा जैसे ही रद्दी चौकी पहुंची, सीएए का विरोध करने वाला पक्ष भी सामने आ गए। दोनों पक्षों में जमकर पत्थरबाजी हुई। आखिर कार पुलिस ने सीएए के समर्थन में निकाली जा रही रैली को बैरीकेड लगाकर आगे बढ़ने से रोक दिया। हालात बेकाबू होते देख पुलिस ने अतिरिक्त सुरक्षाबल बुलाया। आंसू गैस के गोले छोड़कर प्रदर्शनकारियों को खदेड़ना पड़ा। पुलिस के अनुसार स्थिति नियंत्रण में हैं लेकिन एहतियात के तौर पर शहर के चप्पे चप्पे पर पुलिसकर्मी तैनात है।

जबलपुर(विवेक तिवारी): जबलपुर के आधारताल इलाके में सीएए के विरोध में निकाली गई तिंरगा यात्रा के दौरान हंगामा हो गया। यात्रा का विरोध कर रहे लोगों व यात्रा निकाल रहे पक्ष में झड़प हो गई। देखते ही देखते मामला इतना बढ़ गया कि दोनों पक्षों के बीच पथराव हुआ और वाहनों में तोड़फोड़ हुई। हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस को बल का प्रयोग करना पड़ा और आंसू गैस के गोले छोड़े गए।

दरअसल, सीएए के समर्थन में निकाली जा रही तिंरगा यात्रा जैसे ही रद्दी चौकी पहुंची, सीएए का विरोध करने वाला पक्ष भी सामने आ गए। दोनों पक्षों में जमकर पत्थरबाजी हुई। आखिर कार पुलिस ने सीएए के समर्थन में निकाली जा रही रैली को बैरीकेड लगाकर आगे बढ़ने से रोक दिया। हालात बेकाबू होते देख पुलिस ने अतिरिक्त सुरक्षाबल बुलाया। आंसू गैस के गोले छोड़कर प्रदर्शनकारियों को खदेड़ना पड़ा। पुलिस के अनुसार स्थिति नियंत्रण में हैं लेकिन एहतियात के तौर पर शहर के चप्पे चप्पे पर पुलिसकर्मी तैनात है।

About Akhilesh Dubey

Check Also

कोरोना वारियर्स मेडीकल स्टाफ़ की हौसला अफजाई के लिये सेना के कोर ऑफ सिग्नल बैंड ने दी प्रस्तुति

जबलपुर: कोरोना की जंग में फ्रंटलाइन पर खड़े होकर लोगों की जान बचाने वाले डॉक्टरों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *