आप-भाजपा पार्षदों के हंगामे के बीच फिर टला मेयर चुनाव, सदन अनिश्चितकाल के लिए स्थगित

Whatsapp

आम आदमी पार्टी व भाजपा में एमसीडी में पार्षद मनोनीत करने के मामले में चल रहे टकराव के बीच दिल्ली की मिनी सरकार को मंगलवार को ‘बिग बॉस’ मिल सकता है। आज नगर निगम के सदन में पार्षदों को शपथ दिलाई जाएगी। इसके बाद मेयर, डिप्टी मेयर व स्टैंडिंग काउंसिल के सौरभ भारद्वाज ने कहा कि मेयर चुनाव के लिए भाजपा और आम आदमी पार्टी के बीच 111 और 151 का अंतर है। आम आदमी पार्टी सदन में मीडिया के सामने हेड काउंट कर हाजिरी लगवाई।

आम आदमी पार्टी के पार्षद सदन में धरने पर बैठे, आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता दुर्गेश पाठक ने भारतीय जनता पार्टी पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा के पास मेयर बनाने के लिए संख्या नहीं है, वह शुरू से कह रहे हैं कि मेयर तो उनका ही बनेगा, उन्होंने हमारे पार्षदों को खरीदने की कोशिश की मगर खरीद नहीं पाए, हमारे पार्षद कट्टर ईमानदार हैं, वह नहीं बिके। अब पीठासीन अधिकारी जब तक आकर मेयर का चुनाव नहीं कराएंगी, वह सदन में ही बैठे रहेंगे।

भाजपा की मेयर प्रत्याशी रेखा गुप्ता सदन के बाहर धरने पर बैठीं, आम आदमी पार्टी के सारे 135 पार्षद, 13 विधायक, तीन सांसद सदन में बैठे, माइक बंद, पीठासीन अधिकारी, कमिश्नर, निगम सचिव सब गए।भाजपा पार्षद योगेश कुमार ने कहा कि सम्मानित सासंद गौतम गंभीर पर आम आदमी पार्टी के पार्षद ने अभद्र टिप्पणी की, इसका विरोध किया तो महिला पार्षद के साथ धक्का मुक्की पर उतारू हो गए।

आम आदमी पार्टी का एक पार्षद निगम सचिव से बात करने के लिए जैसे ही मंच पर चढ़ा, भाजपा के पार्षदों ने इसका जबरदस्त विरोध किया। इसके बाद शोर थमता न देखकर सदन की कार्यवाही को अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दिया गया। एक बार फिर नहीं हो पाया मेयर, डिप्टी मेयर का चुनाव।आम आदमी पार्टी के पार्षद मनोनीत सदस्यों को सदन से बाहर करने की मांद करते रहे। उनका कहना था कि इसके बाद ही मेयर का इलेक्शन हो, जिसके बाद सदन कुछ देर के लिए स्थगित कर दिया गया।