गुजरात एटीएस को मिली बड़ी सफलता ड्रग्स और मटीरियल समेत 500 करोड़ का माल जब्त

Whatsapp

वडोदरा | गुजरात में चुनावी माहौल के बीच एटीएस को बड़ी सफलता मिली है| गुजरात एटीएस ने वडोदरा के सिंधरोट गांव के निकट ड्रग्स फैक्ट्री का पर्दाफाश करते हुए ड्रग्स और ड्रग्स बनाने की सामग्री समेत कुल रु 478 करोड़ का माल-सामान जब्त कर लिया| साथ ही आरोपियों को भी दबोच लिया| जानकारी के मुताबिक गुजरात एटीएस को सूचना मिली थी कि वडोदरा के सिंधरोट के निकट तबेले की आड में ड्रग्स बनाने की फैक्ट्री चल रही है| सूचना के आधार पर गुजरात एटीएस ने सिंधरोट के निकट स्थित फैक्ट्री पर छापा मारा और 5 शख्सों को दबोच लिया| एटीएस ने घटनास्थल से 63 किलो एमडी ड्रग्स और 80 किलो 260 ग्राम एमडी ड्रग्स बनाने के लिए तैयार लिक्विड समेत रु. 478 करोड़ कीमत का माल-सामान जब्त कर लिया| पकड़े गए पांच आरोपियों में सौमिल उर्फ सेम पाठक शैलेष कटारिया विनोद उर्फ पप्पू निजाम महमद सफी और भरत चावड़ा शामिल हैं| सभी आरोपी वडोदरा के रहने वाले हैं| ड्रग्स फैक्ट्री का मास्टर सौमिल पाठक हैजिसने भरत चावड़ा की मदद से कच्चा माल एकत्र किया था और उसके बाद फैक्ट्री में ड्रग्स बनाया था| जांच में पता चला कि विनोद निजाम ने सौमिल पाठक का कैमिस्ट शैलेष कटारिया से ड्रग्स बनाने के लिए संपर्क करवाया था| मुख्य आरोपी सौमिल पाठक और मुंबई सलीम डोला एक साथ नार्को के मामले में मुंबई के जेल में बंद थे| उस वक्त दोनों एमडी ड्रग्स बनाने की फैक्ट्री शुरू करने का फैसला किया था| इसके अंतर्गत फैक्ट्री में तैयार एमडी ड्रग्स मुंबई के सलीम को सप्लाय किया जाना था| मुंबई का सलीम फिलहाल फरार बताया जा रहा है| जांच में खुलासा हुआ है कि फैक्ट्री में तैयार एमडी ड्रग्स दो दफा मुंबई सप्लाय भी किया जा चुका है| पिछले डेढ़ महीने से चल रही ड्रग्स की फैक्ट्री की देखरेख विनोद निजाम करता था| गौरतलब है तीन महीने पहले ही वडोदरा जिले की सावली के मोक्सी से ड्रग्स का गोदाम पकड़ा गया था| अब फिर एक बार वडोदरा जिले में ड्रग्स की फैक्ट्री का पर्दाफाश हुआ है|