टीम वर्क के रूप में कार्य कर सूचना आयोग को सफल बनाएं: अग्रवाल

Whatsapp

रायपुर : छत्तीसगढ़ राज्य सूचना आयोग के राज्य सूचना आयुक्त  अशोक अग्रवाल को आयोग कार्यालय में आज सेवा निवृत्ति होने पर सादे समारोह में विदाई दी गई। सूचना आयुक्त अशोक अग्रवाल ने इस अवसर पर कहा कि राज्य सूचना आयोग में टीमवर्क के साथ कर आयोग के कार्यों को सफल बनाएं। आयोग के सभी अधिकारी और कर्मचारी सकारात्मक सोंच से कार्य करते हुए आयोग का नाम रोशन करें।

       निवृर्तमान राज्य सूचना आयुक्त  अगवाल ने कहा कि आयोग में 5 वर्ष का कार्यकाल उपलब्धि भरा रहा है। आयोग में विगत पॉंच वर्षों में 8506 प्रकरणों का निराकरण कर एक रिकार्ड कायम किया। उन्होंने कहा कि आयोग में संसाधनों की कमी के बाद भी कुशलता से कार्य सम्पादित किए। आयोग में ऑनलाईन आवेदन की प्रक्रिया प्रारंभ की गई है, जिसके तहत आवेदन अपने घर से ऑनलाईन आवेदन कर जानकारी हासिल कर सकता है।  अग्रवाल ने कहा कि आयोग के द्वारा वर्ष 2006 से लेकर वर्ष 2022 तक के महत्वपूर्ण निर्णयों को संकलित कर प्रकाशन कराया गया, जो जनसूचना अधिकारियों, प्रथम अपीलीय अधिकारियों और अपीलार्थियों के लिए मार्गदर्शी साबित हो रहा है। उन्होंने सूचना आयुक्त  त्रिवेदी,  जायसवाल से कहा कि लंबित प्रकरणों को ज्यादा से ज्यादा निराकरण करने का प्रयास करें।

राज्य सूचना आयुक्त  मनोज त्रिवेदी ने कहा कि  अग्रवाल सरल, सहज और संवदनशील हैं। उनका ज्ञान और मार्गदर्शन सामाजिक और सार्वजनिक जीवन में काम आएगा।  अग्रवाल आदेशों, निर्देशों का पालन कराने में तत्पर रहते थे और अधिकारी एवं कर्मचारियों को साथ लेकर चलने वाले थे।  अग्रवाल में कार्याे के प्रति सजगता और सक्रियता देखी जा सकती थी।  त्रिवेदी ने बताया कि कोरोनाकाल में वीडियों कान्फ्रेसिंग के माध्यम से आयोग में अपील और शिकायत के प्रक्ररणों की सुनवाई की जाती रही, जिसके माध्यम से अपीलार्थी, और जनसूचना अधिकारी अपनी बात आसानी से रख सकते थे।

राज्य सूचना आयुक्त  धनवेन्द्र जायसवाल ने कहा कि कर्म ही पूजा है, हमेशा अपने कार्य के प्रति जिम्मेदार रहकर कार्य सम्पादित करते रहे हैं और कानून की परिधि में रहकर कार्य करते रहें। आयोग में भी उनके कार्यशैली की प्रशंसा की जा रही है। आयोग का प्रकाशन वर्ष 2006 से लेकर वर्ष 2022 तक के महत्वपूर्ण निर्णयों में सबसे ज्यादा  अग्रवाल के निर्णय है, जिसमें उन्होंने सर्वाेच्च न्यायालय, उच्च न्यायालय ओर केन्द्रीय सूचना आयोग के निर्णय को उदाहरण के रूप में शामिल किया है, जो अनुकरणीय है। वे प्रशासनिक क्षेत्र से होने के नाते व्यावहारिक ज्ञान के मामले में सम्पन्न थे। आयोग के सचिव  आनंद मसीह ने कहा कि  अग्रवाल के संयमित और प्रशासनिक सेवा कार्या का मार्गदर्शन आगे भी आयोग को मिलता रहेगा।

       राज्य सूचना आयुक्त  अशोक अग्रवाल की विदाई के अवसर पर छत्तीसगढ़ राज्य सूचना आयोग की ओर से सचिव  आनंद मसीह ने शाल , राजकीय गमछा और स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर अवर सचिव  गीता शुक्ला दीवान, संयुक्त संचालक  धनंजय राठौर, स्टाफ आफिसर  रजनी छड़ीमली,  बीरेन्द्र गुप्ता,  संजय वापट, वरिष्ठ लेखाधिकारी  जे.आर. रावटे, अनुभाग अधिकारी  अतुल कुमार वर्मा सहित आयोग के अधिकारी, कर्मचारी बड़ी संख्या में उपस्थित थे।