आरोपियों ने 16 की रात किए फायर; राइफल और 9 खाली कारतूस बरामद

Whatsapp

चंडीगढ़: पंजाब पुलिस विभाग द्वारा गन कल्चर का प्रदर्शन करने और अन्य आपराधिक वारदातों में संलिप्त लोगों पर तेजी से कार्रवाई की जा रही है। अब कुराली पुलिस ने राइफल से फायर करने वाले तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। थाना सदर कुराली पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से एक राइफल समेत 9 खाली कारतूस भी बरामद किए हैं। आरोपियों में गांव सिंघपुरा निवासी हरजीत सिंह, गांव ननहेड़िया निवासी गगनदीप सिंह और कुराली के वार्ड नंबर-4 स्थित चौधरिया मोहल्ला का रहने वाला तनवीर राठौर शामिल हैं। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज कर उनसे पूछताछ शुरू कर दी है।मुखबर की सूचना पर गिरफ्तार तीनों आरोपीदरअसल, 22 नवंबर को SAS नगर स्थित थाना सदर कुराली में तैनात ASI केवल कृष्ण पुलिस पार्टी के साथ गश्त ड्यूटी के दौरान संदिग्ध लोगों की चेकिंग के मकसद से सिंघपुरा बाइपास पर मौजूद थे। शाम करीब साढ़े 7 बजे ASI को मुखबर से सूचना मिली कि उक्त तीनों आरोपी व एक अन्य ने 16 नवंबर की रात गांव सिंघपुरा में आरोपी हरजीत सिंह की मोटर पर राइफल से फायर किए थे।मुखबर ने ASI केवल कृष्ण को आरोपियों के सिंघपुरा में हरजीत सिंह की मोटर पर मौजूद होने की जानकारी दी। थाना पुलिस ने पहले दर्ज किए केस में आज तीनों आरोपियों को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की।DGP के आदेशों पर जीरो टोलरेंस पर कार्रवाईपंजाब में कानून व्यवस्था को मजबूत करने के लिए DGP गौरव यादव के आदेशों पर पहले नशा तस्करों की धरपकड़ और बीते दिनों गन कल्चर के खिलाफ विशेष मुहिम चलाई गई। पंजाब में सभी जिला पुलिस गन कल्चर और NDPS मामलों में जीरो टोलरेंस पर काम कर रही है। सोशल मीडिया पर गन कल्चर का प्रदर्शन करने वालों के खिलाफ समूचे पंजाब में केस दर्ज करने सहित आरोपियों को गिरफ्तार किया जा रहा है।पंजाब पुलिस ने गठित की विशेष टीमेंपंजाब पुलिस ने सोशल मीडिया पर गन कल्चर का प्रदर्शन करने वालों पर नजर रखने के लिए अलग से सोशल मीडिया टीम बनाई है। यह टीम सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफॉर्म पर गन कल्चर को बढ़ावा देने वाली फोटो, ऑडियो-वीडियो अपलोड करने के आरोपियों पर नजर रखती है और फिर संबंधित थाना पुलिस आरोपियों पर केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार करने में जुटी है।आर्म्स लाइसेंस भी किए जा रहे कैंसिलपंजाब में सभी जिलों के DC द्वारा पुलिस विभाग को आर्म्स लाइसेंस की वैरिफिकेशन का जिम्मा दिया गया है। जो कोई व्यक्ति आपराधिक वारदातों में शामिल पाया जाएगा, एक लाइसेंस पर 2 हथियार मिलेंगे और हथियारों का अनावश्यक प्रदर्शन करता पाया जाएगा, उनके आर्म्स लाइसेंस कैंसिल किए जा रहे हैं। अभी तक समूचे पंजाब में करीब 900 से अधिक लाइसेंस धारकों के खिलाफ कार्रवाई की गई है।