‘रोडीज’ की एक्स कंटेस्टेंट निहारिका को गला काटने की धमकी

Whatsapp

दंतेवाड़ा । टीवी शो ‘रोडीज’ की एक्स कंटेस्टेंट निहारिका तिवारी ने एक वीडियो पोस्ट कर उदयपुर की घटना की निंदा की थी। इसके बाद से उन्हें इस तरह की धमकियां मिलनी शुरू हो गई हैं। कई लोगों ने निहारिका का समर्थन किया है। निहारिका तिवारी छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा की रहने वाली हैं। फिलहाल शूटिंग के लिए वह इंडोनेशिया में हैं। निहारिका ने फोन पर बातचीत में उन्हें मिल रहीं धमकियों के बारे में बताया।
किसी ने नहारिका से कहा, ‘तू उल्टी गिनती शुरू कर, अब तेरी बारी है’, तो किसी ने भद्दी गालियां देकर नेपोटिज्म फैलाने का आरोप लगाया है। एक्स रोडीज निहारिका ने कहा, ”बहुत कम इंस्टाग्राम इनफ्लुएंसर होते हैं, जो इस तरह के मुद्दों पर खुलकर अपनी बात रखते हैं। उदयपुर की घटना निंदनीय थी, इसलिए मैंने सोशल मीडिया में अपनी बात रखी। मैंने कुछ गलत नहीं कहा। मैंने नूपुर शर्मा का पक्ष नहीं लिया, सिर्फ दर्जी कन्हैयालाल की जिस तरह से हत्या कि गई है, उसका विरोध किया।”निहारिका ने कुछ दिन पहले इंस्टाग्राम पर एक वीडियो पोस्ट किया था, जिसमें उन्होंने कहा था- ”खुलेआम मर्डर हो रहा है। हमारे प्रधानमंत्री को जान से मारने की धमकियां दी जा रही हैं, क्या यह सही है? हम हिंदू भगवान शिव का नाम लेकर किसी का गला नहीं काटते।
नूपुर शर्मा को सस्पेंड कर दिया गया, लेकिन उनका अब क्या जिन्होंने शिवजी को लेकर गलत बोला।” इंस्टाग्राम पर एक्स रोडीज निहारिका तिवारी को अलग-अलग आईडी से धमकियां मिली हैं। हालांकि, कई लोगों ने निहारिका का सपोर्ट भी किया है। एक यूजर ने कहा कि हम आपके साथ हैं, तो कइयों ने अपना ख्याल रखने की सलाह दी है। इन धमकियों को लेकर निहारिका बोलीं- ”मैं डरने वाली नहीं हूं, जिसे जो बोलना है, बोलने दो।”नूपुर शर्मा के समर्थन में दुर्ग जिला स्थित कुम्हारी के एक 22 साल के युवक ने भी इंस्टाग्राम पर पोस्ट किया है, जिसके बाद युवक को भी जान से मारने की धमकी दी गई है।
इस मामले को लेकर कुम्हारी थाने में  एफआईआर भी दर्ज करवाई गई है। युवक ने पुलिस को बताया कि वो रायपुर के लाल गंगा शॉपिंग कॉम्पलेक्स में काम करता है। इंस्टाग्राम पर रायपुर के 2 लोगों ने शुक्रवार तक जान से मारने की धमकी दी है। युवक ने इस मामले में कार्रवाई की मांग की है। कुम्हारी के युवक को धमकी मिलने के बाद भाजपा नेता गौरीशंकर श्रीवास ने कहा कि जो लोग धमकियां दे रहे हैं, वे ये न समझें कि उदयपुर जैसी घटना यहां दोहराई जाएगी।