पार्टी के खिलाफ कार्य करने वाले 89 कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों को भाजपा जिलाध्यक्ष ने किया 6 साल के लिए पार्टी से निष्कासित

Whatsapp

हरदा: शनिवार शाम को भाजपा जिलाध्यक्ष अमरसिंह मीणा ने नगरीय निकाय चुनाव में पार्टी के खिलाफ काम करने वाले और चुनाव लड़ने वाले 89 लोगों को पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया है।जिलाध्यक्ष मीणा का कहना है कि पार्टी गाइड लाइन के खिलाफ जाकर काम करने वालों पर अनुशासनहीनता को लेकर यह कार्रवाई की गई है।गौरतलब है कि टिमरनी नगर परिषद के 15 वार्डों में पार्षद पद के लिए पार्टी के द्वारा अपने अधिकृत प्रत्याशियों को घोषणा करने के बाद भाजपा विधायक संजय शाह के खिलाफ आकर टिमरनी के 59 कार्यकर्ताओं और पार्टी से जुड़े पदाधिकारियों ने सामूहिक इस्तीफा देकर उसे सोशल मीडिया पर जारी किया था।जिसमें सभी ने कांग्रेस से आए लोगो को टिकट देने और भाजपा से सालों से जुड़े कार्यकर्ताओं को दरकिनार कर टिकट नहीं देने का आरोप लगाया था। भाजपा जिलाध्यक्ष मीणा ने टिमरनी के 65, सिराली के 03, हरदा 09 व खिरकिया के 12 लोगों के खिलाफ निष्कासन की कार्रवाई की है।जिसमें टिमरनी से महेंद्र पटेल,उदय कोल्हटकर, अनिल किरार हरदा के वार्ड नं 30 से भाजपा प्रत्याशी के खिलाफ निर्दलीय चुनाव लड़ने वाले भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के मण्डल अध्यक्ष संतोष किरावर,वार्ड नं 6 से पिछड़ा वर्ग मोर्चा के जिला मीडिया प्रभारी उमेश प्रजापति, टिमरनी मण्डल महामंत्री गुलशन चौरसिया, खिरकिया से पूर्व पार्षद संदीप भदौरिया आदि नाम शामिल है।उधर टिमरनी से सामूहिक रूप से इस्तीफा देने वाले लोगों का कहना है कि जब हमने स्वयं ने पार्टी से अपना इस्तीफा दे दिया है फिर छः साल के निष्कासन का क्या औचित्य।