गुवाहाटी से चौपाटी के रास्ते में गोवा रुकेगा एकनाथ शिंदे कैंप कामाख्या मंदिर में कर रहे दर्शन

Whatsapp

मुंबई  । महाराष्ट्र की सियासत में  यह तय हो जाएगा कि सूबे की सियासत का ‘गुरु’ कौन है और किसे सत्ता मिलेगी। राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने सीएम उद्धव ठाकरे को कल विधानसभा का विशेष सत्र बुलाकर फ्लोर टेस्ट कराने को कहा है। इस बीच भाजपा और शिवसेना के बागी एकनाथ शिंदे गुट की भी तैयारी पूरी नजर आ रही है। गुवाहाटी से चौपाटी आने की शिवसेना की चुनौती को एकनाथ शिंदे गुट ने स्वीकार किया है और मुंबई पहुंचने की बात कही है। हालांकि एकनाथ शिंदे गुट के विधायक सीधे मुंबई नहीं पहुंचेंगे बल्कि आज गोवा में ठहरेंगे। बागी विधायकों के लिए ताज रिजॉर्ट होटल में उनके लिए 70 कमरों की बुकिंग की गई है। सूत्रों के मुताबिक गोवा के ताज होटल में इन विधायकों के ठहराने का फैसला लिया गया है। इसके बाद कल विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव से ठीक पहले विधायक सदन में पहुंचेंगे और मतदान करेंगे। इसके पीछे एकनाथ शिंदे कैंप और बीजेपी की यह रणनीति है कि समय से पहले यदि विधायक पहुंच गए तो शिवसेना का उद्धव ठाकरे खेमा उन्हें प्रभावित करने की कोशिश न करे। इस बीच एकनाथ ग्रुप के विधायक कामाख्या मंदिर में दर्शन करने के लिए पहुंचे हैं। कहा जा रहा है कि आज दोपहर तक वे गुवाहाटी से गोवा के लिए रवाना हो सकते हैं। इस बीच फ्लोर टेस्ट कराने के राज्यपाल के आदेश पर शिवसेना भड़क गई है। पार्टी के सीनियर नेता संजय राउत ने कहा कि संविधान की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। इन लोगों का तो पर्यटन चल रहा है। गुवाहाटी से अब गोवा आएंगे। पता नहीं वहां से मुंबई आएंगे या फिर वहां पहाड़, नदी और अच्छे होटल देखेंगे। उन्होंने होटल में विधायकों के लिए कमरे बुक होने पर कहा कि कोई उनके लिए पैसे चुका रहा है। उनके पास कोई कमी थोड़ी है। गौरतलब है कि एकनाथ शिंदे ने अपने साथ 48 विधायकों का समर्थन होने का दावा किया है।