किसी ने लिया नाम वापस तो कोई हुआ पार्टी से बागी, अब चुनाव में होगा घमासान, टिकट न मिलने पर नाराज दावेदार

Whatsapp

सिवनी: नगरीय निकाय चुनाव में नाम वापसी प्रक्रिया में कुछ लोगों ने नाम वापस लिए तो किसी ने पार्टी के विरोध में चुनाव लड़ने का मन बना लिया। टिकट न मिलने से नाराज प्रमुख राजनीतिक दलों के पदाधिकारी व कार्यकर्ता चुनाव मैदान में उतर गए हैं। ऐसे में ये बागी प्रत्याशी पार्टी को नुकसान पहुंचा सकते हैं।गहमागहमी की बनी स्थितिनाम वापसी के आखिरी दिन प्रमुख दलों के बीच गहमा-गहमी रही। अंतिम समय तक आवेदन वापस लेने के प्रयास होते रहे।नाम वापसी के लिए पार्टी के नेता लगाते रहे जुगाड़प्रमुख दल के दावेदारों के नाम वापस कराने प्रमुख राजनीतिक दलों के नेताओं ने हर तरह के हथकंडे अपनाए। किसी ने दबाव व लालच देकर कई दावेदारों से आवेदन वापस कराए। तो कुछ ने रिश्तेदारी का हवाला दिया। इसके बाद भी राजनीतिक दल के नेता पार्टी के कई दावेदारों को आवेदन वापस लेने के लिए राजी करने में सफल नहीं हो पाए।दावेदारों ने मोबाइल किया बंदकई दावेदार अंतिम समय तक नाम (आवेदन) वापस लेने नहीं पहुंचे। वहीं उनका मोबाइल भी बंद रहा। इस दौरान पार्टी के नेताओं में कशमकश का माहौल रहा। पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं में इस बात को लेकर भी नाराजगी देखी जा रही है कि इस बार पूर्व प्रत्याशियों के रिश्तेदारों को टिकट दे दिया गया है। जिससे नाराज दावेदारों ने नाम वापसी के दिन मोबाइल बंद कर लिया।प्रमुख पार्टियों के दावेदारों में आक्रोशकई सालों से प्रमुख राजनीतिक दल में जुड़े रहने और प्रमुख पद में रहने के बावजूद टिकट के लिए दावेदारी करने के बाद भी टिकट नहीं मिलने से दावेदारों में आक्रोश देखा जा रहा है। ऐसे असंतुष्ट पार्टी के पदाधिकारी अब पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा देने लगे हैं।सोशल मीडिया पर वायरल हुआ आवेदनइंटरनेट मीडिया में ऐसा ही आवेदन वायरल हुआ, जिसमें भाजपा के वरिष्ठ पदाधिकारी रामलाल राय ने पार्टी के ओर से मनमर्जी से टिकट वितरण करने असंतुष्ट होकर पार्टी की सदस्यता से त्यागपत्र देने का उल्लेख किया है।