निलंबित और बर्खास्त कर्मचारियों की लगाई ड्यूटी, जानकारी लगने पर अफसरों ने मानी गलती

Whatsapp

डिंडौरी: त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में कर्मचारियों और अधिकारियों की ड्यूटी लगाए जाने को लेकर लापरवाही बरती जा रही है। शहपुरा जनपद पंचायत क्षेत्र के निलंबित सचिव और बर्खास्त रोजगार सहायक की पंचायत चुनाव में ड्यूटी लगा दी गई। मामला उजागर होने पर अधिकारी अपनी गलती स्वीकार कर ड्यूटी सूची से नाम हटाने की बात कह रहे हैं।भ्रष्टाचार के मामले में निलंबित सचिव राम कुमार मरावी और रोजगार सहायक की ड्यूटी प्रथम चरण 25 जून को होने वाले मतदान के लिए ड्यूटी लगा दी गई थी। जब इस मामले का खुलासा हुआ तो जनपद पंचायत के सीईओ राजीव तिवारी का कहना है कि त्रुटि के कारण निलंबित सचिव और बर्खास्त रोजगार सहायक की ड्यूटी लगा दी गई थी। दोनों का नाम मतदान ड्यूटी सूची से नाम अलग कर दिया गया है। सहायक रिटर्निंग अधिकारी पीडी पटेल का कहना है कि निलंबित और बर्खास्त कर्मचारियों का मतदान ड्यूटी से नाम अलग कर दिया गया है।