प्लॉट खरीदते समय इन बातों का रखें ध्यान, बढ़ेगी सकारात्मक ऊर्जा और होगा भरपूर लाभ

Whatsapp

हर इंसान का सपना होता है कि उसका एक सुंदर-सा घर (Vastu Tips For house) हो. जो वास्तु दोष से मुक्त हो. जिसके लिए लोग बिना सोचे समझे प्लॉट (Vastu Tips For Residential Plot) खरीद लेते हैं वहीं पर अपना घर बना लेते हैं.

जिसकी वजह से उन्हें जीवन में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है. देखिए, अगर घर पहले से बना हुआ होता है. तो, उसके वास्तु दोष कुछ उपायों को आजमाकर दूर किए जा सकते हैं. लेकिन, वहीं अगर आप घर बनाने जा रहे हैं उसके लिए प्लॉट खरीदने वाले हैं उसे वास्तु दोष से मुक्त रखना चाहते हैं. तो, आपको वास्तु (vastu shastra) अनुरूप ही प्लॉट खरीदना चाहिए.

इसके लिए केवल अच्छा प्लॉट ही सुख-समृद्धि पाने के लिए काफी नहीं है. बल्कि अच्छी आकृति का प्लॉट भी निश्चित वास्तु सम्मत घर बनाने के लिए पहला बहुत महत्वपूर्ण कदम है. लेकिन, इसका भरपूर लाभ तब मिलता है जब आप अपना घर बनाते समय वास्तु के दूसरे नियमों का भी ध्यान रखें. तो, अगर प्लॉट खरीदते वक्त ही वास्तु के इन नियमों का पालन किया जाए तो घर का वातावरण सकारात्मक ऊर्जा (Vastu Tips For New Plot) से भरपूर रहता है.

वास्तु शास्त्र में दिशाओं को महत्वपूर्ण स्थान दिया गया है. शास्त्रों में 10 दिशाएं मानी गई हैं. प्लॉट का फ्रंट यानी मुख्यद्वार अगर उत्तर से पूर्व तक की दिशा में हो तो यह बेहद ही शुभ माना जाता है. इसके अलावा अगर प्लॉट की उत्तर-पूर्व दिशा यानी ईशान कोण में अधिक हो तो ऐसी भूमि शुभ मानी जाती है. इसके अलावा दक्षिण-पश्चिम की दिशा को भी प्लॉट खरीदने के लिए बेहतर (Home Vastu Tips) बताया गया है.

जिस जमीन में दरारें हो, रेतीली हो या दीमक वाली हो, तो वहां पर भवन निर्माण नहीं करना चाहिए.

मकान बनाने का प्लॉट वर्गाकार या आयताकार हो तो शुभ रहता है. इसके अलावा किसी भी आकार की भूमि पर भवन बनाना ठीक नहीं होता है. फिर भी उस पर मकान बनाना ही है, तो उस प्लॉट में वर्गाकार या आयताकार हिस्सा निकालकर भवन बनाएं बाकी हिस्से पर पेड़, पौधे आदि लगा सकते हैं.

प्लॉट खरीदते समय इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि उसके आगे कोई बड़ा निर्माण नहीं होना चाहिए. क्योंकि बड़े घर या फिर बिल्डिंग की छाया भूमि पर पड़ना शुभ नहीं माना जाता है. इसके अलावा कोई बड़ा पेड़ भी घर के मुख्द्वार के सामने नहीं होना चाहिए. आप चाहें तो दक्षिण दिशा में पौधारोपण कर सकते हैं.

मकान बनाते समय पूर्व या उत्तर दिशा में खाली जगह छोड़ना अच्छा होता है. वास्तु अनुसार दक्षिण या पश्चिम में खाली स्थान न छोड़ें.

अगर प्लॉट के चारों ओर या उत्तर या​ फिर पूर्व दिशा में सड़क हो तो वह प्लॉट मकान के लिए ठीक माना जाता है. इसके अलावा अन्य दिशाओं में सड़क होने पर उस प्लॉट को भवन​ निर्माण के लिए मध्यम श्रेणी का माना जाता है.

वास्तु शास्त्र के मुताबिक आप जो भी जमीन खरीद रहे हैं. इस बात को ध्यान में रखते हुए लें कि उसके कोने कटे ना हों. इसके साथ ही प्लॉट के आस-पास कोई दलदली (Vastu Tips For Home Construction) भूमि भी ना हो.