‘जहां-जहां परिवारवादी पार्टियां हटी, हुआ विकास’…हैदराबाद में PM मोदी ने साधा TRS पर निशाना

Whatsapp

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा कार्यकर्त्ताओं को संबोधित करते हुए कि के. चंद्रशेखर राव (KCR) तेलंगाना को तुष्टीकरण का हब बनाना चाहते हैं। हैदराबाद के बेगमपेट एयरपोर्ट पर पार्टी कार्यकर्त्ताओं को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि मैं तेलंगाना की इस धरती से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भी बधाई देता हूं। उनको किसी ने कहा कि फलां जगह पर नहीं जाना चाहिए, लेकिन योगी जी ने कहा कि मैं विज्ञान पर विश्वास करता हूं और वो चले गए। आज वो दोबारा मुख्यमंत्री बने हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि योगी संत हैं पर अंधविश्वासी नहीं लेकिन KCR अंधविश्वासी हैं, अंधविश्वास को बढ़ावा देने वाले लोगों से हमें तेलंगाना को भी बचाना है। पीएम मोदी ने कहा कि तेलंगाना के लोगों ने बदलाव का मन बना लिया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि आठ साल में सबका साथ सबका विकास हुआ है। उन्होंने कहा कि परिवारवाद की पार्टियां सिर्फ़ अपना विकास करती हैं। अपने परिवार की सदस्यों की तिजोरियां भरती हैं। इन परिवारवाद पार्टियों को गरीब के दर्द की चिंता नहीं होती है।

पीएम मोदी के संबोधन के प्रमुख अंश

  • 21वीं सदी का नया भारत ‘आत्मनिर्भर भारत’ और ‘मेक इन इंडिया’ के सपनों को लेकर आगे बढ़ रहा है।
  • हमारे स्टार्टअप्स आज पूरी दुनिया में अपनी छाप छोड़ रहे हैं। आज हम दुनिया के तीसरे सबसे बड़े स्टार्टअप ecosystem हैं। अभी कुछ दिन पहले ही, भारत का सौंवां यूनिकॉर्न हमारे सामने आया है।
  • पिछले दिनों अलग अलग चुनावों में भाजपा की जीत इस बात का स्पष्ट संकेत है कि तेलंगाना में अब लोगों ने मन बना लिया है। तेलंगाना में अब अब बदलाव पक्का है। तेलंगाना में अब भाजपा तय है।
  • भाजपा ने पिछले 8 सालों में सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास के मंत्र के साथ देश की निरंतर सेवा की है। गरीब, पिछड़ा, दलित, आदिवासी, हमारी माताएं बहनें, हमारे अंत्योदय के सारे साथी, उनका उत्कर्ष भाजपा की आस्था है।
  • आज के इस युग में भी जो लोग अंधविश्वास के गुलाम बने हुए हैं, वो अपने अंधविश्वास में किसी का भी नुकसान कर सकते हैं। ये अंधविश्वासी लोग तेलंगाना के सामर्थ्य के साथ कभी न्याय नहीं कर सकते।

बता दें कि पीएम मोदी ने हैदराबाद में इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस (आईएसबी) के 20 साल पूरे होने के अवसर पर एक कार्यक्रम में भाग लिया और साथ ही चेन्नई में 31,400 करोड़ रुपए से अधिक की लागत से 11 परियोजनाओं की आधारशिला रखकर उन्हें राष्ट्र को समर्पित किया।