क्लब संचालकों को लाइसेंस आने का इंतजार इधर दो क्लब और सील होने के आसार, संरक्षण देने वाले आबकारी अफसर को हटाया

Whatsapp

शहर में रेसकोर्स रोड पर कामर्स हाउस स्थित फोर मोर शॉट्स रेस्त्रां बार में मारपीट की घटना और आबकारी नियमों के उल्लंघन को प्रशासन ने गंभीरता से लिया है। इस मामले में कलेक्टर मनीष सिंह ने आबकारी विभाग की उप निरीक्षक शालिनीसिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। साथ ही पलासिया क्षेत्र के सहायक जिला आबकारी अधिकारी (एडीओ) बीके वर्मा को वर्तमान प्रभार से हटा दिया है। वर्मा को सहायक आयुक्त कार्यालय में संबद्ध किया गया है।

सूत्रों के मुताबिक विजय नगर क्षेत्र के मल्हार मेगा माल में लाइट हाउस और टीडीएस बार में 21 साल से कम उम्र के युवाओं को शराब परोसने के मामले में भी कार्रवाई होना तय है। कलेक्टर दोनों बार के लाइसेंस निलंबित कर सकते हैं। जांच दल ने केस दर्ज कर उच्च अफसरों को फाइल भेजी है। दो-तीन मई की रात फोर मोर शॉट्स बार रात में तय समय के बाद भी खुला मिला था। इस दौरान मारपीट की घटना भी हुई थी और महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार किया गया था। इस मामले में दोषियों के विरूद्ध भी प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की गई थी। बार में आबकारी विभाग की टीम जांच के लिए पहुंची, तो यहां रात 1.30 बजे भी शराब पीने और पिलाने का दौर जारी था। बार संचालक संभव सक्सेना, संदीप शुक्ला व विक्रम बत्रा हैं। कलेक्टर ने बार का लाइसेंस 15 दिन के लिए निलंबित किया था। बार में विवाद करने वाले इरफान अली उर्फ हैप्पी अली और रणवीर उर्फ रामन नेकिया के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत कार्रवाई भी की गई थी। कलेक्टर ने आबकारी विभाग को सख्त निर्देश दिए हैं कि इंदौर में संचालित विभिन्न मदिरा दुकानों और बार में नियमों का सख्ती से पालन सुनिश्चित कराएं। सभी पब और बार का संचालन आपराधिक प्रवृत्ति के व्यक्तियों द्वारा करना पाया गया, तो कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी। आबकारी अधिकारियों को चेतावनी दी गई है कि वे निगरानी बढ़ाएं और नियमों का पालन
सुनिश्चित कराएं।

 लाइसेंस आने की राह

इंदौर में पिछले दिनों पब और क्लब को लेकर भारी हंगामा देखने को मिला था। हिंदू संगठनों के बाद कांग्रेस क्लब के बाहर जाकर प्रदर्शन कर रहा था। इसी बीच लाइसेंस कई क्लबों के अनियमितता पाए जाने पर निलंबित कर दिए गए थे। मामला शांत हुआ था ही की क्लब संचालक लाइसेंस दोबारा आने का इंतजार कर रहे थे। ऐसे में शहर के दो क्लबों मैं अनियमितता पाए जाने पर क्लब सील होने के कगार पर आ चुके हैं।